Home देश चीन को ले कर जो बाईडेन का ब ड़ा ब यान, पीएम मोदी के सा मने...

चीन को ले कर जो बाईडेन का ब ड़ा ब यान, पीएम मोदी के सा मने ही क हा की अ ब

शुक्रवार को ‘क्वाड समूह’ का पहला शिखर सम्मेलन हुआ| जिस समूह में भारत, अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया देश शामिल है| जिसकी स्थापना 2007 में हुई थी|

इस हिसाब से शिखर सम्मेलन में भारत के PM नरेन्द्र मोदी, जापान के PM योशिहिदे सुगा, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन उपस्थित रहे|

क्वाड की इस डिजिटल सम्मेलन में उन चुनौतियों पर बात हुई, जो हिंद-प्रशांत महासागर क्षेत्र में चीन के आक्रामक रवैये के चलते वैश्विक स्तर पर आई है|

साथ ही साथ कोरोना महामारी को लेकर भी बात हुई| महामारी की समस्या को ध्यान में रखते हुए क्वाड समूह ने वैक्सीन निर्माण की क्षमता बढ़ाने को लेकर एक बड़ी सहमति दिखाई है|

PM मोदी ने सम्मेलन में कहा, ‘हम लोकतांत्रिक मूल्यों और हिंद-प्रशांत क्षेत्र को सभी के लिए मुक्त, खुला और समान अवसर वाला बनाना चाहते है|

आगे कहा, हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं। आज का हमारा एजेंडा वैक्सीन निर्माण, जलवायु परिवर्तन और नई तकनीकी है, जो क्वाड को दुनिया के लिए एक सकारात्मक शक्ति बनाता है|’

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘मैं इसे भारत के वसुधैव कुटुंबकम के विचार का ही विस्तार मानता हूं, जिसका सार है कि ‘पूरी दुनिया ही एक परिवार है’।

इसके साथ ही उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र की सुरक्षा, स्थिरता और संपन्नता की दिशा में भी मिलकर काम करने की बात कही|

कोरोना वायरस पर कहा, ‘कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में हम एकजुट हैं| हमने सुरक्षित वैक्सीन की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण क्वाड भागीदारी शुरू की है|’

इसके अलावा बता दें कि, इस वर्चुअल मीटिंग में PM मोदी को अपने सामने देख जो बाइडन ने कहा- ‘प्रधानमंत्री मोदी- आपको देखकर बहुत अच्छा लगा|’

जो बाइडन ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती दखलअंदाजी पर बिना उसका नाम लिए कहा, ‘इस क्षेत्र में सहयोग के लिए क्वॉड महत्वपूर्ण मंच बनने जा रहा है। हम अपनी प्रतिबद्धताओं को जानते हैं|’

वैसे इस बैठक के शुरू होने से पहले ही चीनी विदेश मंत्रालय ने मीडिया से कहा था कि, ‘सहयोगी देशों के बीच आपसी समझ एवं भरोसे को बढ़ाने में योगदान होना चाहिए, लेकिन बिना किसी तीसरे पक्ष को निशाना बनाए हुए|’