Home देश म चा ब वाल, अ ब इ स देश ने खु ले में ही गडकरी पर ल गाया...

म चा ब वाल, अ ब इ स देश ने खु ले में ही गडकरी पर ल गाया भ्र ष्टाचार का आ रोप, क हा इ न्होंने

स्वीडिश कंपनी ‘स्कैनिया’ ट्रक और बस का निर्माण करती है| यह फोक्सवागन समूह की सहायक कंपनी है| स्कैनिया का मुख्यालय स्वीडन में है।

अब इस स्वीडिश कंपनी और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का नाम काफी सुर्ख़ियों में आ रहा है| दरअसल, स्वीडिश मीडिया ने गडकरी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है|

आरोप यह लगा हैं कि, नवंबर 2016 में स्कैनिया कंपनी ने गडकरी के बेटे से जुड़ी एक कंपनी को लग्जरी बस गिफ्ट में दी थी|

हालाँकि, नितिन गडकरी के कार्यालय की तरफ से एक बयान जारी किया गया है, जिसमें इस आरोप को गलत बताया है|

कार्यालय ने बयान में कहा, ‘इस तरह के आरोप लगाना कि नितिन गडकरी की बेटी की शादी के लिए बस पर होने वाले खर्च का भुगतान नहीं किया गया था पूरी तरह से मीडिया की मनगढ़ंत कहानी है|’

बेशक नितिन गडकरी के कार्यालय वाले बयान में इस आरोप को पूरी तरह से दुर्भावनापूर्ण, मनगढ़ंत और निराधार बताया गया है, लेकिन विपक्षी कांग्रेस ऐसा नहीं मानती|

कांग्रेस पार्टी अब इस पुरे मामले पर न्यायिक जांच की मांग कर रही है| इसपर कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने बयान दिया है|

सुप्रिया के अनुसार, ‘बस अनुबंध से जुड़ा घोटाला एक चिंता का विषय है और सार्वजनिक जीवन में शुचिता की बात करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर चुप हैं।

आगे कहा, ‘वह इसके बारे में बात भी नहीं करना चाहते। हम इस मामले की न्यायिक जांच की मांग करते हैं और आशा करते हैं कि सरकार इस पर संज्ञान लेगी तथा अपने पहले के कई घोटालों की तरह इस पर पर्दा नहीं डालेगी।’

बता दें कि, स्वीडिश न्यूज चैनल SVT और दो अन्य मीडिया आउटलेट्स की रिपोर्ट के आधार पर एक दावा हुआ था, जिसने पूरा विवाद खड़ा कर दिया|

दावा यह कि, साल 2013 और 2016 के बीच स्कैनिया कंपनी ने सात भारतीय राज्यों में ठेके पाने हेतु रिश्वत दी है।

इसे दावे में एक भारतीय मंत्री को भी रिश्वत देने की बात उठी| साथ ही रिपोर्ट के अनुसार, स्कैनिया ने ट्रक के मॉडल में घोटाला किया और लाइसेंस प्लेट बदलकर भारतीय खनन कंपनियों को ट्रक बेचने की कोशिश की।