Home देश राकेश टिकैत ने लिया अबतक का सबसे बड़ा फैसला, कहा 5 मार्च...

राकेश टिकैत ने लिया अबतक का सबसे बड़ा फैसला, कहा 5 मार्च को भारत के

नए कृषि कानूनों के विरोध में अभी भी किसानों का आंदोलन जारी है। हालांकि, लाल किले की घटना और कुछ अन्य वारदातों के चलते कई किसानों को वापस जाते भी देखा गया है।

यही नहीं कई किसान नेताओं में आपसी मतभेद भी नज़र आया। फिलहाल, आंदोलन को मजबूती देने के लिए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत काफी कोशिश कर रहे है।

लेकिन उनके द्वारा दिये कई बयानों पर हाल ही में विवाद होता दिखा और दूसरे किसान नेताओं ने उन्हें सोच- समझकर बोलने की सलाह दी।

अभी तीन दिन पहले ही उन्होंने राजस्थान के करीरी में किसानों को संबोधित करते हुए किसानों से दिल्ली कूच करने का आह्वान किया था।

उन्होंने 40 लाख ट्रैक्टर के साथ संसद मार्च का ऐलान करते हुए दिल्ली कूच की शुरुआत करने की बात कही थी।

टिकैत के कुछ बयानों से असहमत अन्य किसान नेताओं के अनुसार, उनके हर बयान पर पूरी दुनिया की नजर होती है।

इस कारण उन्हें कुछ भी बोलने से पहले सोचना चाहिए और ऐसे बयानों से बचना चाहिए। हालांकि, किसान नेताओं ने इसे राकेश टिकैत का निजी बयान बताया।

अब नई खबर के अनुसार, किसानों आंदोलन के लिए समर्थन जुटाने के मकसद से राकेश टिकैत मार्च में पांच राज्यों का दौरा करेंगे।

शनिवार को भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के एक पदाधिकारी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, राकेश टिकैत एक मार्च से दौरे की शुरुआत करेंगे।

बीकेयू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि, मार्च में उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में किसानों की बैठकें होंगी’।

उनके बताए अनुसार, ‘साथ ही उत्तर प्रदेश में भी दो बैठकें होंगी और 20, 21 व 22 मार्च को अंतिम तीन बैठकें कर्नाटक में होंगी।

राजस्थान में दो बैठकें, मध्य प्रदेश में तीन बैठकें होंगी। साथ ही उन्होंने बताया कि, तेलंगाना में छह मार्च को एक कार्यक्रम निर्धारित है, लेकिन राज्य में कुछ चुनावों के कारण हमें अभी तक इसकी अनुमति नहीं मिली है’।