Home देश पीएम मोदी का एक और बड़ा फैसला, अचानक ही AIIMS में पहुंचे...

पीएम मोदी का एक और बड़ा फैसला, अचानक ही AIIMS में पहुंचे और अब कर दिया ऐसा काम

देशभर में टीकाकरण अभियान चल रहा है। 16 जनवरी से शुरू हुए इस टीकाकरण कार्यक्रम के तहत अभी तक लगभग 82 लाख लोगों को पहली खुराक मिल चुकी है।

अब ये कार्यक्रम अपने दूसरे चरण की ओर बढ़ चुका है। वैसे सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को दिए आदेश में साफ लिखा है कि, आगामी 6 मार्च तक पहले चरण के तहत सभी तीन करोड़ लोगों तक टीका लगाने का मैसेज पहुंच जाना चाहिए।

इस बीच ताज़ा खबर यह आई है कि, सोमवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिल्ली के एम्स अस्पताल में कोरोना की वैक्सीन लगवा ली है।

साथ ही उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, ‘एम्स में मैंने COVID- 19 वैक्सीन की पहली खुराक ली, यह प्रशंसनीय है कि, कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने के लिए समय पर काम किया है’।

आगे लिखा, ‘मैं उन सभी से अपील करता हूं, जो वैक्सीन लेने के योग्य हैं, साथ आएं, हम मिलकर भारत को कोरोना मुक्त बनाएंगे’।

बता दें कि, पीएम मोदी को अभी कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज दी गई है। जबकि दूसरी डोज आज से 28 दिन के बाद दी जाएगी।

दरअसल, आज यानि 1 मार्च से 60 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों को टीका लगने की शुरुआत हुई है। तो टीकाकरण अभियान को प्रोत्साहित करने हेतु 70 वर्षीय पीएम ने खुद जाकर वैक्सीन ली।

पीएम मोदी को जो वैक्‍सीन लगी है, वो भारत बायोटेक की बनाई Covaxin थी। जिसकी खेप दिल्ली भेजी गई है। इससे पहले तक, हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कस को टीका लग रहा था।

अभी तक इस दवा को लेकर विपक्ष दल शंका में था और उनके अनुसार वैक्सिन को फेज-3 के ट्रायल के बिना ही आपात मंजूरी प्रदान की गई है।

विपक्ष दल का यह भी कहना था कि, प्रधानमंत्री मोदी पहले खुद इस वैक्सीन को लगवाएँ। तो आज वैक्सिन लगवाकर पीएम मोदी ने इसपर खड़े होने वाले सवालों को जवाद दिया है।

साथ-ही-साथ देश के सामने वैक्सीन की विश्वसनीयता को बढ़ाया है। बता दें कि, सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी वैक्सिन के इंतजाम किए गए हैं।

हालांकि, निजी अस्पतालों में वैक्सीन की एक डोज के लिए 250/- रुपये देने होंगे, जिसमें 150 रुपये टीके और 100 सर्विस चार्ज होगा। जबकि, सरकारी अस्पतालों में यह मुफ्त होगा।