Home देश कोरोना वैक्सीन में ऐसा क्या है कि ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा...

कोरोना वैक्सीन में ऐसा क्या है कि ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा कि इसे लेने से महिलाओं को दाढ़ी आएगी?

पूरी दुनिया जहां बेसब्री से कोरोना महामारी के खत्म होने और जल्द से जल्द बाज़ार में इसकी दवा के आने का इंतज़ार कर रही है। 

वहीं दूसरी तरफ ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो की तरफ से कोरोना वायरस के टीकों को लेकर एक हैरान कर देने वाला बयान सामने आया है। 

बोल्सोनारो ने फाइजर बायोएनटेक द्वारा विकसित किए गए टीके के बारे में कहा कि, इससे लोग मगरमच्छ बन सकते हैं या महिलाओं की दाढ़ी आ सकती है। बोल्सोनारो ने फाइजर कंपनी के टीकों का मज़ाक बनाते हुए गुरूवार को स्पष्ट कहा कि, ‘कंपनी ने अपने कांट्रेक्ट में स्पष्ट लिखा है कि हम टीके के साइड इफेक्ट की कोई जिम्मेवारी नहीं लेते हैं। तो टीका लगवाने के बाद आप मगरमच्छ बन जाएंगे तो यह आपकी समस्या है। 

बोल्सोनारो शुरू से ही इस बीमारी को हल्के में लेते आ रहे है। ब्राजील राष्ट्रपति इसे गंभीर महामारी मनाने की बजाए इसे बस एक फ्लू कहते है। पिछले साल के आखिर में शुरू हुए कोरोना वायरस संक्रमण को उन्होंने हल्का बुखारबताया था। इस हफ्ते जब पूरे देश में मास वैक्सीनेशन की शुरूआत हुई तो उन्होंने खुद को टीका लगवाने से मना कर दिया। 

यही नहीं इस हफ्ते जोर देते हुए वो कह चुके है कि, लोगों को कोई टीका नहीं लगाया जाएगा। बता दें कि, ब्राजील में फाइजर के वैक्सीन का कई हफ्तों से ट्रायल चल रहा है और अमेरिका और ब्रिटेन में इस कंपनी का सामूहिक ​टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। लेकिन बोल्सोनारो को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। उनके अनुसार इस टीके से व्यक्ति सुपरह्यूमन भी बन सकता है। 

बोल्सोनारो बोल चुके है कि, अगर आप सुपरह्यूमन बन गए और किसी महिला की दाढ़ी निकल आई और एक पुरूष की आवाज महिलाओं की तरह हो जाए, तो इस बारे में दवा कंपनी कुछ भी नहीं करेगी। इसके साथ ही बता दें कि, बुधवार को यह टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। जोकि नि: शुल्क होगा, लेकिन बोल्सोनारो ने कहा अनिवार्य नहीं। जिसपर ब्राजील की सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फैसला सुनाया कि टीका अनिवार्य है। हालांकि लोगों को इसे लेने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता।