Home देश किसानों के आंदोलन पर राहुल गांधी का बयान आया सामने, खुले में...

किसानों के आंदोलन पर राहुल गांधी का बयान आया सामने, खुले में ही कर दिया बड़ा एलान

लोकसभा के मानसून सत्र में किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने तीन बिल पारित किए हैं। ये सितंबर महीने की बात है। 

उस समय भी कृषि से जुड़े इन विधेयकों पर राजनीति गरमा गई थी और आज तक उसका असर खत्म नहीं हो सका है। 

बता दें कि, पंजाब से लेकर महाराष्ट्र तक कई दल इसका विरोध कर रहे हैं। हालात, ये हो चुके है कि, किसानों की फौज अपने गुस्से को लिए हुए विरोध भाव से दिल्ली की तरफ बढ़ चुके है। जिन्हें रोकने के लिए बड़ी तदात में पुलिस बलों को लगाया गया है, लेकिन किसान वर्ग पीछे हटने को तैयार नहीं है। अब देश भर से किसानों के विरोध प्रदर्शन पर प्रतिकृया आ रही है। 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि, ‘PM को याद रखना चाहिए था जब-जब अहंकार सच्चाई से टकराता है, पराजित होता है। सच्चाई की लड़ाई लड़ रहे किसानों को दुनिया की कोई सरकार नहीं रोक सकती। मोदी सरकार को किसानों की माँगें माननी ही होंगी और काले क़ानून वापस लेने होंगे। ये तो बस शुरुआत है!

अब हर क्रिया पर प्रतिकृया होती है, तो उनके इस ट्वीट का जवाब दिया बीजेपी के मशहूर नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने। नकवी ने ट्वीट कर लिखा कि, हम कांग्रेस नहीं हैं जो किसानों के लिए नो एंट्री का बोर्ड लगा दें, आइए बात कीजिए, कोई भ्रम है तो दूर कीजिए। सरकार के दरवाजे बातचीत के लिए हमेशा खुले हैं।अब बता दें, इन विधेयकों के आने से किसानों को डर है कि, सरकार नए कानून के बाद एमएसपी पर फसलों की खरीद बंद कर देगी। 

व्यापारियों को डर है कि, जब मंडी के बाहर बिना शुल्क का कारोबार होगा तो कोई मंडी आना नहीं चाहेगा। इस बिल के अनुसार, अब हर किसान एपीएमसी मंडियों के बाहर किसी को भी अपनी फसल बेच सकता है, जिसपर उसे कोई शुल्क नहीं देना होगा। जबकि अभी तक मंडी में उनकी फसलों की खरीद पर विभिन्न राज्यों में अलग-अलग मंडी शुल्क व अन्य उपकर लगते हैं। खैर देखना होगा कि सरकार किसानों की समस्या को कितना सुलझा पाती है।