Home देश देश के इन 18 राज्यों में पटाखों पर लगेगी रोक, एनजीटी ने...

देश के इन 18 राज्यों में पटाखों पर लगेगी रोक, एनजीटी ने दिया नोटिस

14 नवम्बर को दिवाली हैं और हमेशा के जैसे इस त्योहार के आने से पहले ही पटाखों को न जलाने की सलाह देने का काम शुरू हो जाता है।

इस दिशा में कानूनी दिशा-निर्देश जारी होते है। तो इस बार भी कुछ ऐसा ही होने जा रहा है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) द्वारा बुधवार को एक नोटिस जारी किया गया है।

वैसे इस बार के हालात बीते सालों से बिलकुल अलग है। एक तरफ कोरोना महामारी की रफ़्तार रुकने का नाम ही नहीं ले रही। उसके बाद इन डीनो उत्तर भारत में पराली जलाए जाने के चलते होने वाला धुआँ। जो आसमान में इस कदर भर जाता है कि, सांस लेने से लेकर आँखों में जलन का एहसास लोगों को होता है। उसके बाद दिवाली में जलने वाले पटाखों का धुआँ। कुलमिलाकर यह स्थिति को और गंभीर कर देते है।

बता दें कि, एनजीटी ने पटाखों से होने वाले प्रदूषण के मुद्दे को गंभीरता से लिया है और इससे निपटने के लिए 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस भेजा है। विभिन्न समूहों द्वारा दायर याचिकाओं में 30 नवंबर तक पटाखों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की गई है। यह नोटिस पहले ही दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सरकारों को भी भेजा जा चुका है।

इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी पटाखें न जलाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि, ‘जिस तरह हमने पिछले वर्ष दीपावली पर पटाखे नहीं जलाने का संकल्प लिया था और दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस में जुटकर दीपावली की खुशियां बांटी थीं। वैसे ही इस बार भी दीवाली मनाएंगे। किसी भी हालत में पटाखे नहीं जलाना। अगर पटाखे जलाएंगे तो अपने ही बच्चों की जिंदगियों के साथ खेलेंगे।

दिल्ली के अलावा राजस्थान और ओडिशा सरकारों ने तो अपने राज्यों में पटाखों की खरीद और बिक्री पर ही प्रतिबंध लगाने के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने भी कहा कि, ‘आतिशबाजी से निकलने वाले धुएं के कारण Covid-19 रोगियों के साथ-साथ अन्य लोगों को हृदय और श्वास संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं। ऐसे में लोगों को दिवाली के दौरान आतिशबाजी से बचना चाहिए। साथ ही उन्होंने पटाखों की बिक्री के अस्थायी लाइसेंस पर रोक लगाने का निर्देश भी दिया है।