Home देश ओवैसी ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से कहा, मत भूलो की संविधान की...

ओवैसी ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से कहा, मत भूलो की संविधान की शपथ…

महाराष्ट्र में पुनः धार्मिक स्थलों को खोले जाने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच वाद-विवाद हो गया। 

जिसके बीच अब AIMIM चीफ और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी की तरफ से भी एक बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने राज्यपाल की बातों को गलत करार दिया। 

दरअसल, राज्यपाल ने उद्धव ठाकरे को राज्य के धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने जाने का अनुरोध करते हुए एक पत्र लिखा था। भगत सिंह कोश्यारी ने पत्र में लिखा था कि, आप हिंदुत्व के एक मजबूत मतदाता रहे हैं। आपने सार्वजनिक रूप से भगवान राम के प्रति अपनी श्रद्धा व्यक्त की थी। आप आषाढ़ी एकादशी पर विट्ठल रुक्मणी मंदिर गए थे। 

पत्र में यह भी लिखा गया था कि, ‘मुझे आश्चर्य है कि क्या आप खुद सेकूलर हो गए है या फिर आपको किसी दैवी शक्ति का साक्षात्कार हो रहा है, इसलिए आप मंदिर नहीं खोल रहे है। यह विडंबनापूर्णहै कि, महाराष्ट्र सरकार ने बार और रेस्तरां को फिर से खोल दिया है, लेकिन धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने पर कोई कदम नहीं उठाया है

इसके बाद अब मुद्दे पर असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा कि,यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह राज्यपाल द्वारा किया जा रहा है, जिसने संविधान की शपथ ली है। ओवैसी ने ट्वीट में आगे लिखा कि, ‘उस शपथ के लिए हिंदुत्व की आवश्यकता नहीं थी। अपने कर्तव्यों के निर्वहन में सीएम की हिंदुत्व के प्रति प्रतिबद्धता अप्रासंगिक है और इसे उठाया भी नहीं जाना चाहिए था। 

खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी पत्र का कड़े शब्दों में जवाब देते हुए लिखा था, ‘अचानक से लॉकडाउन को लागू करना सही नहीं था, एक बार में इसे पूरी तरह से रद्द करना भी अच्छा नहीं होगा’। साथ ही लिखा, मैं इतना बड़ा नहीं की, मुझे किसी दैवी शक्ति का साक्षात्कार हो। आपको इसका अनुभव हो सकता है। मैं तो सिर्फ़ देश और दूसरे राज्यों में क्या सही- ग़लत हो रहा है। उसकी जानकारी लेकर महाराष्ट्र की स्थिति सुधारने का प्रयास कर रहा हूं।