Home देश एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरह शुरू हुआ युद्ध, पुतिन ने जारी...

एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरह शुरू हुआ युद्ध, पुतिन ने जारी की चेतावनी!

पिछले छः दिनों से आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच युद्ध जारी है। जिसका असर अब धीरे धीरे विश्व के बाकी देशों पर भी देखने को मिल रहा है। 

इस बात का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि, खुद रूस जैसे बड़े देश के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सभी देशों से तत्काल युद्धविराम की अपील की है।

खास बात ये कि, आर्मेनिया की तरफ से एक बयान आया है। जिसके अनुसार रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और अर्मेनियाई प्रधानमंत्री निकोलियन पशिनियन ने नागोर्नो-कराबाख के क्षेत्र में जारी जंग पर फोन पर बात की है। युद्ध शुरू होने से लेकर अबतक यानि पिछले छः दिनों में दोनों के बीच तीसरी बार फोन पर बात हुई है। हालांकि, रूस के राष्ट्रपति आर्मेनिया के प्रति खुलकर अपना समर्थन नहीं दिखा रहे है। 

लेकिन उन्होंने युद्ध स्थिति का जायजा लेते हुए तुर्की पर निशाना साधा है, जो अजरबैजान का साथ निभा रहा है। दोनों देशों के बीच फिलहाल तोप, मिसाइल और फाइटर जेट से हमला चल रहा है। जिसमें बड़ी संख्या मीन सैनिकों से लेकर आम नागरिकों मारे गए है। इस बीच रूस ने मध्यपूर्व से आतंकियों के आर्मेनिया के खिलाफ लड़ाई में शामिल होने पर चिंता व्यक्त की है। 

बता दें कि, तुर्की के जैसे ही भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भी अजरबैजान का साथ दे रहा है। जिसकी पुष्टि भी जल्द ही हुई है। साथ ही इजरायल उसे हथियार उपलब्ध करवा रहा है। पाकिस्तान और तुर्की देश आतंकियों को अरजबैजान की ओर लड़ने के लिए दबाव बना रहे हैं। जिसपर रूस चिड़ा हुआ है। ऐसे में अगर वो युद्ध में शामिल होता है, तो स्थिति और खराब हो सकती है। 

दोनों ही देश आतंकियों को अरजबैजान की ओर लड़ने के लिए दबाव बना रहे हैं। यहाँ तक कि, तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैय्यप एर्दोगान ने धमकी दी थी कि, वह अजरबैजान को नागोर्नो-काराबाख पर कब्‍जा करने में मदद करेंगे। जहां तक बात है आर्मीनिया और रूस के संबंध की तो इन दोनों देशों के बीच रक्षा संधि है। तो अगर अजरबैजान के ये हमले आर्मेनिया की सरजमीं पर होते हैं तो रूस मोर्चा संभालने आ सकता है।