Home देश अर्मेनिया और इस देश के बीच शुरू हुआ युद्ध, अर्मेनिया ने तुर्की...

अर्मेनिया और इस देश के बीच शुरू हुआ युद्ध, अर्मेनिया ने तुर्की को ठहराया जिम्मेदार

आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच युद्ध गंभीर होते जा रहा है। इस दौरान दोनों के बीच चल रहे युद्ध में तुर्की के प्रवेश से हालत और खराब हो गए है। 

दरअसल, आर्मेनिया की तरफ से तुर्की पर आरोप लगाया गया है कि, तुर्की के एक फाइटर जेट ने उसके एक युद्धक विमान को मार गिराया है।

इस बार की पुष्टि खुद आर्मेनिया के रक्षा मंत्रालय ने की है। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि, हमारे एयरस्पेस में तुर्की के F-16 फाइटर जेट ने रूस निर्मित हमारे विमान सुखोई SU-25 को मार गिराया है। जिसमें आर्मेनिया का पायलट भी मारा गया है। लेकिन तुर्की ने इस हमले से साफ इंकार किया। तुर्की के संचार निदेशक फहार्टिन अल्टुन की तरफ से इसपर बयान आया है। 

जिसमें उन्होंने कहा कि, आर्मेनिया को सस्ते प्रचार के लिए ऐसे प्रोपेगेंडा का सहारा लेने के बजाय अपने कब्जे वाले क्षेत्रों से हटना चाहिए। यही नहीं अजरबैजान के राष्ट्रपति के सहायक हिकमत हाजीयेव ने भी आर्मेनिया के इस आरोप की निंदा की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, आर्मेनिया का आरोप है कि उसके SU-25 को F-16 ने मार गिराया है। यह पूरी तरह से गलत है। मैं उन्हें अपने रडार की जांच करने की सलाह दूंगा। 

आगे लिखा कि’ आर्मेनिया के क्षेत्र से एक भी एसयू –25 ने उड़ान नहीं भरी। युद्ध के दौर से गुज़र रहे ये दोनों देश काफी छोटे है। इसमें रूस और फ्रांस आर्मेनिया का साथ दें रहे है। तो तुर्की, अजरबैजान के समर्थन में है। इसी के चलते आर्मेनिया ने तुर्की पर आरोप लगाया है। नागोर्नो- काराबाख को लेकर चल रही इस युद्ध में अबतक 100 से ज्‍यादा लोग मारे जा चुके है और कई घायल हो चुके है। 

नागोर्नो- काराबाख जोकि दोनों देशों के बीच एक विवादित इलाका है। जोकि 4400 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। जिसपर वर्ष 1994 से आर्मेनिया का कब्जा है, लेकिन अजरबैजान इसे अपना इलाका बताता है। इन दोनों देशों की बात की जाये तो 1991 में सोवियत संघ टूटने के बाद ये आज़ाद हुए थे। पिछले दो दिन से चल रहे युद्ध में न केवल सैनिक शामिल है, बल्कि नागरिक भी लड़ रहे है।