Home देश लगातार तीसरे दिन टूटा सोना, रिकॉर्ड ऊंचाई से इ’तने रुपये नीचे गिरा...

लगातार तीसरे दिन टूटा सोना, रिकॉर्ड ऊंचाई से इ’तने रुपये नीचे गिरा भाव

सोने की बढ़ती कीमतों से परेशान ग्राहकों के लिए ये खबर अच्छी हो सकती है, क्योंकि सोने की मांग में आई कमी के चलते अब डीलर्स ग्राहकों को अच्छा खासा डिस्काउंट दे रहे है। 

इसकी मदद से ताकि वो अपनी बिक्री को भी बढ़ा सके। तो लोगों को आकर्षित करने के लिए अब सोने की खरीद पर डिस्काउंट दे रहे हैं। साथ ही त्योहारों का सीज़न भी आ चुका है।

कोरोना काल में सोने की कीमत में काफी बदलाव देखा गया। लेकिन अब यह करीब 6800 रुपये तक सस्ता हो चुका है। पिछले 6 हफ्तों से लगातार ग्राहकों को सोने पर डिस्काउंट दिया जा रहा है। जैसे कि पिछले हफ्ते करीब 130 रुपये प्रति 10 ग्राम पर डिस्काउंट दिया गया। अगर 7 अगस्त की बात की जाये तो वायदा बाजार में सोना अपने सबसे ऊंचे स्तर पर था, यानि उस समय प्रति 10 ग्राम सोने की कीमत 56,200 रुपये हो गई थी। 

साथ ही सोने ने 49,380 रुपये प्रति 10 ग्राम का न्यूनतम स्तर भी छुआ। इस हिसाब से ऊंचे और नीचे स्तर के बीच 6,820 रुपये की गिरावट आई है। बता दें कि, अब सोने की मांग कम हुई तो, इसपर कारोबारियों ने अपने जमा सौदे को कम  कर लिया। जिसके कारण ही शुक्रवार को वायदा बाजार में सोना 0.2 प्रतिशत की गिरा और 49,806 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया। 

कारोबारियों द्वारा अपने जमा सौदे को कम करने का असर सिर्फ सोने ही नहीं चाँदी की कीमत पर भी देखना को मिला। इसके चलते शुक्रवार को चांदी की कीमत 279 रुपये घटकर 59,350 रुपये किलो पर आ गई। लेकिन सर्राफा बाजार में चांदी की कीमत 2,124 रुपये के उछाल के साथ 60,536 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई है। जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी 23.10 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर रही। 

तो कुल मिलाकर सोना खरीदने के लिए ये समय उचित माना जा रहा है। लेकिन सर्राफा बाजार में भारी डिस्काउंट देने के बावजूद भी लोग पहले की तरह सोने की ओर उतना आकर्षित नहीं हो रहे हैं। इसकी मुख्य वजह कोरोना के चलते लोगों की आर्थिक स्थिति पर पड़ा बुरा असर है। परंतु ऐसा अंदाज़ा है कि अगले महीने यानि अक्टूबर-नवंबर में दिवाली दशहरा समय में सोने की मांग बढ़ सकती है।