Home देश महाराष्ट्र में जा सकते है कांग्रेस शिवसेना कि सरकार

महाराष्ट्र में जा सकते है कांग्रेस शिवसेना कि सरकार

अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ जुबानी जंग को लेकर चर्चा में रहे शिवेसेना सांसद संजय राउत की हाल ही में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री के साथ मुलाकात हुई।

यह मीटिंग शनिवार को हुई। जब पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता देवेंद्र फडणवीस ने उन्हें आढ़े हाथ लेते हुए अपनी बात रखी। 

मुंबई के ग्रैंड हयात होटल में करीब 2 घंटे तक यह मुलाकात चली। आई खबरों के अनुसार बीजेपी ने यह कहकर माहौल गरमा दिया कि आने वाले दिनों में ऐसी और भी बैठकें होंगी। हालांकि उसने यह भी कहा कि उसका सरकार गिराने का इरादा नहीं है। इतना ही नहीं इस मीटिंग के बाद सियासी गलियारों में अटकलों का दौर तेज हो गया है। 

कयास लगाए जा रहे है कि, कहीं महाराष्ट्र में भी तो बिहार पैटर्न दोहराने की तैयारी नहीं चल रही है। इस बिहार पैटर्न की कहानी पर बात करे तो साल 2015 में बिहार में विधानसभा चुनावों के बाद जेडीयू और आरजेडी ने मिलकर सरकार बनाई थी, लेकिन कुछ ही महीने बाद दोनों में मतभेद देखने को मिला। जिस मतभेद के चलते नीतीश की पार्टी भगवा दल के साथ आ खड़ी हुई और आरजेडी सत्ता से आउट हो गई।

हालांकि महाराष्ट्र में अभी तीन पार्टियों के गठबंधन से सरकार चल रही है। अब क्योंकि इन दोनों नेताओं के बीच होटल में हुई मीटिंग को लेकर अलग-अलग अटकले लगाई जा रही है, तो उस बीच बीजेपी पार्टी की तरफ से जानकारी मिली कि, वास्तव में संजय राउत सामनाअखबार के लिए देवेंद्र फडणवीस का इंटरव्यू करना चाहते थे। तो उसी संदर्भ में दोनों मिले। 

बाद में फिर इसी बात पर संजय राउत की तरफ से मुहर लगाई गई। संजय ने कहा कि, दोनों की मुलाकात पुराने सहयोगी होने के नाते थी और सामना में उनके इंटरव्यू के लिए बातचीत हुई। उन्होंने साथ ही कहा कि, शिवसेना के बिना राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए)क्ष अधूरा है। शिवसेना और अकाली दल एनडीए के सबसे पुराने और सबसे बड़े सहयोगी रहे हैं, लेकिन कुछ वजहों से अब हम साथ नहीं हैं। अब इस राजनीतिक बयान के पीछे छुपा रहस्य भविष्य में ही स्पष्ट हो सकता है।